Budget 2024 highlights Updates | Income tax slabs, new income tax regime, jobs, infrastructure capex in focus

Budget 2024
www.apnaindiaexpress.com

कल सुबह 11 बजे के लगभग में Budget 2024 को घोषणा किया जायेगा। हमारे भारत के राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा घोषणा किया जायगा जिसमें कई क्षेत्रो में आम आदमी को लाभ मिलने की संभावना है। अभी चुनाव को लेकर पुरे बजट का घोषणा नहीं किया जा सकता। ये अभी सिर्फ अंतरिम होना होने वाली है।  आगे पढ़िए.

बजट 2024 की लाइव अपडेट

आज की ताज़ा खबर साल 2024 के लिए बजट इस सप्ताह 1 फरवरी, 2024 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बताया  जाएगा। राष्ट्रीय बजट 2024, 1 फरबरी गुरुवार को सुबह 11:00 बजे पेश किया जाएगा। इस वर्ष का बजट 2024 एक अंतरिम बजटहोने वाला है  क्योंकि आने वाले अगले  महीनों में लोकसभा चुनाव भी होने जा रहा  हैं,

और ये सिर्फ आधी बजट अभी अन्नोउंस होने वाली है। 

जब चुनाव ख़त्म होगा जो भी नयी सरकर बनेगी उसके बाद वार्षिक बजट आएगा। हर साल की तरह बजट 2024 से भी आम आदमी, मध्यम वर्ग, महिलाओं, किसानों और उद्योग को राहत मिलने की उम्मीदें हैं। आयकर स्लैब में बदलाव, नई टैक्स व्यवस्था में बदलाव से लेकर मानक कटौती और धारा 80सी सीमा में बढ़ोतरी तक, वेतनधारी, करदाता कर में  राहत बढ़ाने के लिए बजट 2024 पर नजर रख रहे हैं। नरेंद्र मोदी सरकार अपने राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को पूरा करेगी और साथ ही रोडवेज और रेलवे जैसे प्रमुख बुनियादी ढांचा क्षेत्रों पर अपने पूंजीगत व्यय को जारी रखेगी।

आईटीआर भरने वालों की संख्या दोगुनी से अधिक

बजट सत्र: संसद सत्र की शुरुआत में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि इनकम टैक्स रिटर्न भरने वालों की संख्या करीब 3.25 करोड़ से बढ़कर करीब 8.25 करोड़ हो गई है यानी दोगुने से भी ज्यादा हो गई है।  मुर्मू ने कहा कि कुछ साल पहले अपने देश बस कुछ स्टार्टअप थे जो आज लाखों में चली आयी यही हैं । हमारे भारत में एक साल में लगभग 94000 कंपनी पंजीकृत हुए है और इसकी अब यह संख्या बढ़कर 1,60,000 हो गई है। राष्ट्रपतिजी का कहना  है की, ”दिसंबर 2017 में 98 लाख लोग जीएसटी भरते थे, आज gst बाहरणे वालो की संख्या 1 करोड़ 40 लाख तक पहुँच गयी है।

देश में एक कुशल कार्यबल बनाने में सहायता करें

आनेवाली  अंतरिम बजट 2024 हमारे देश के तकनीकी क्षेत्र के मजबूती के लिए काफी महत्वपूर्ण है। बजट से सभी क्षेत्रो को साइबर और तकनिकी व्यवस्था , नवाचार को बढ़ावा देने और प्रतिभा विकसित के लिए उपयोग किया जायेगा । इसके अलावा, साइबर सुरक्षा, कौशल को बढ़ाने, महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे को मजबूत करने और जागरूकता को बढ़ावा देने को प्राथमिकता देनाजरुरी है। इस बजट  छोटे छोटे स्टार्टअप को भी बढ़ावा देना जरुरी है ,

डिजिटल साक्षरता, स्किलिंग पर ध्यान देना चाहिए। एसटीईएम शिक्षा। वैश्विक निवेश को आकर्षित करने के लिए, नियामक प्रक्रियाओं को सरल बनाना, बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देना और कंपनियों को कर प्रोत्साहन प्रदान करना महत्वपूर्ण है। एक तेजी से बढ़ते और सुरक्षित डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए भारत की क्षमता को अनलॉक करने के लिए ये केंद्र बिंदु महत्वपूर्ण हैं, ”कृष्णा कहते हैं विज, बिजनेस हेड- टीमलीज डिजिटल।

शेयर बाजार में बढ़ावा

शेयर बाजार आज शेयर बाजार में अच्छी  लाभ देखने को  केंद्रीय बजट 2024 प्रस्तुति से पहले, बीएसई सेंसेक्स बुधवार को 600 अंक या 0.86% ऊपर 71,752.11 पर बंद हुआ। निफ्टी50 दिन के अंत में 200 अंक या 0.95% से अधिक की बढ़त के साथ 21,700 के ऊपर बंद हुआ।

बजट सत्र:-

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बुधवार को बताया कि पिछले दशक में भारत ने अपनी अर्थव्यवस्था को “नाजुक पांच” से “शीर्ष पांच” में बदल लिया है, और ‘मेड इन इंडिया’ अब एक वैश्विक ब्रांड बन चुका है। नए संसद भवन में दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में अपने पहले संबोधन में, उन्होंने अर्थव्यवस्था के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की और मोदी सरकार की 10 वर्षों की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। मुर्मू ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में, हमने भारत को ‘नाजुक पांच’ से ‘शीर्ष पांच’ अर्थव्यवस्था में परिणामस्वरूप बदलते हुए देखा है।

दस साल पहले, भारत दुनिया की 10वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था, मौजूदा बाजार मूल्यों पर 1.9 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की जीडीपी के साथ। आज, यह 3.7 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर (अनुमान 2023-24) की जीडीपी के साथ 5वां सबसे बड़ा है। राष्ट्रपति ने आगे कहा कि अब ‘मेड इन इंडिया’ एक वैश्विक ब्रांड बन गया है और दुनिया मेक इन इंडिया नीति से उत्साहित है। उन्होंने कहा, “दुनिया ‘आत्मनिर्भर भारत’ के उद्देश्य की सराहना कर रही है। आज दुनिया भर की कंपनियां भारत में उभरते क्षेत्रों को लेकर उत्साहित हैं।”

पिछले 10 वर्षों की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए, मुर्मू ने कहा कि भारत का निर्यात लगभग 450 बिलियन अमेरिकी डॉलर से बढ़कर 775 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक हो गया है, और एफडीआई प्रवाह दोगुना हो गया है।

बजट 2024 आयकर

सरकार का 2024 में लक्ष्य है की  नई व्यक्तिगत कर व्यवस्था की शुरूआत के साथ कर संरचना को सरल बनाना और जटिलताओं को कम करना। इसने कुल 100 से अधिक में से विभिन्न प्रकृति की 70 छूट और कटौतियों को हटा दिया है और शेष की भी समीक्षा और तर्कसंगत बनाने की योजना बनाई है। 

वास्तव में, पिछले बजट ने रोजगार करों को रोकने के लिए डिफ़ॉल्ट व्यवस्था को पुरानी व्यवस्था से नई व्यवस्था में बदल दिया था। नई व्यक्तिगत कर व्यवस्था उन करदाताओं को रियायती कर दरों की पेशकश करके कर लाभ प्रदान करना जारी रखती है जो किसी छूट/कटौती का लाभ नहीं लेने का विकल्प चुनते हैं। इन कर दरों को लागू करने से नई व्यवस्था के तहत लाभ हो सकता है, भले ही पुरानी व्यवस्था के तहत 150,000 रुपये की कटौती का दावा किया गया हो।

Conclusion:-

अगर आप बजट 2024  से जुड़ी और भी खबर जानना चाहते हैं तो हमारे वेबसाइट को सेव करके जरूर रखें और हो सके तो इसके नोटिफिकेशन आईकॉन कोआप लोग दबा दें ताकि सभी अपडेट आप सबके पास जल्द से जल्द पहुंच सके मिलते  हैं आप सब से एक अगले अपडेट के साथतब तक के लिए जय हिंद वंदे मातरम।

Rinku Kumar
Rinku Kumar

Rinku Kumar is a talented and aspiring blogger known for her captivating content and insightful perspectives. Born on March 20, 2002, in Janta West, Muzaffarpur, Bihar, Rinku discovered her passion for writing at an early age. Growing up in a world of ever-evolving digital media, she found herself drawn to the vast opportunities for self-expression and communication offered by the internet.

From a young age, Rinku exhibited a natural flair for storytelling and a keen interest in exploring diverse topics. She honed her writing skills through personal journals, school essays, and online platforms. As she delved deeper into the world of blogging, she realized its potential to not only entertain but also to inform, inspire, and connect with people worldwide.

Articles: 169

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *